श्रावक संस्कार शिविर की नियमावली

दशलक्षण महापर्व 2022

दिनाँक 30.08.2022 मंगलवार से दि. 10.09.2022 शनिवार तक भोपाल (म.प्र.) महोदय,

परम पूज्य आचार्य प्रवर मूकमाटी महाकाव्य रचियता आचार्य श्री 108 विद्यासागर जी महाराज के परम शिष्य परम पूज्य मुनि श्री 108 विमल सागर जी महाराज, मुनि श्री 108 अनंत सागर जी

मुनि श्री 108 धर्म सागर जी मुनि श्री 108 भाव सागर जी ससंघ के पावन सानिध्य में दशलक्षण महापर्व के पावन प्रसंग पर श्रावक संस्कार शिविर का आयोजन होने जा रहा है। इस शिविर में अपनी स्वेच्छा से भाग लेना चाहता हूँ। कृपया स्वीकृति प्रदान करें।

शिविर के नियम-:

  1. शिविर में 13 वर्ष की उम्र के ऊपर की आयु वाले बालक/पुरुष भाग ले सकते हैं।
  2. शिविर काल में पूर्णतः गृह त्याग रहेगा, धर्मशाला में रहना होगा।
  3. धोती – दुपट्टा, अंतरंग वस्त्र एवं एक चटाई तथा चादर के अलावा, अन्य सभी वस्त्रों का त्याग करना होगा।
  4. चटाई पर सोना होगा।
  5. मोबाईल का उपयोग पूर्णतः वर्जित है, अतः अपने पास मोबाईल नहीं रखना होगा। 6. रुपया-पैसा आदि कार्यालय में जमा कराकर रसीद लेनी होगी, अपने पास रुपया-पैसा नही रखना होगा।
  6. कक्षा तथा प्रवचन आदि में अनिवार्य रूप से उपस्थित रहना होगा। 8. दिन में एक बार भोजन एवं शाम को जल, दूध, मेवा, दवाई आदि ले सकेंगे। बीच में पानी की छूट नहीं मिलेगी। 9. शिविरार्थियों को रात्रि 10 बजे से प्रातः 4 बजे तक मौन रहना होगा।
  7. शिविर स्थान, निवास स्थान एवं मंदिर जी को छोड़कर किसी अन्य स्थान आना-जाना नहीं करना होगा। 11. शिविरार्थियों के लिए शुद्ध भोजन की व्यवस्था प्रातः काल श्रावको के घरों में शाम को पुण्यार्जक माध्यम से अतिथि भवन में प्रबंध कमेटी द्वारा की जावेगी
  8. सभी शिविरार्थियों को बैग, पुस्तक, पेन, कापी आदि सामग्री आयोजकों द्वारा प्रदान की जायेगी।

जबकि चादर, टाबिल इत्यादि शिविरार्थियों को साथ लाना होगा।

  1. शिबिरार्थी दाढी एवं कटिंग नहीं करा सकेंगे। (शिविर के दौरान)
  2. शिविर के दिनों में जूता चप्पल आदि का पूर्ण त्याग रहेगा। 15. स्नान एवं वस्त्रों को साफ करने में साबुन का उपयोग न करें तो बहुत ही अच्छा रहेगा, अथवा करें तो विवेकपूर्वक

सीमित मात्रा में ही करें।

  1. अनुशासन, शांति एवं एकता बनाये रखना होगा। 17. इन दिनों में आप शिविर में मात्र शरीर से नहीं, मन से भी रहेगें।
  2. शिविर में नियमानुसार ही दैनिक चर्या करनी होगी, और निर्देशों का पालन करना होगा। 19. शिविर में केवल पंजीकृत पुरुष वर्ग ही नियमित रूप से भाग लेंगें। बाहर से आने वाले श्रावक श्राविकाये

कक्षा एवं प्रवचन आदि कार्यक्रमों में उपस्थित होकर धर्म लाभ ले सकेंगे।

  1. आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि 30/08/2022 तक है।
  2. शिविर समापन की तिथि 10/09/2022 है।
  3. शिविर काल में शिविरार्थी परिवार के लोगों से इधर-उधर की अनावश्यक चर्चा नहीं कर सकेंगे। 23. किसी भी प्रकार की अनियमितता पायी जाने पर उन्हें शिविर से बाहर निकाला जा सकता है। 24. मुनिश्री के निर्देश से नियमों में स्थिति, परिस्थिति के अनुसार परिवर्तन संभव है। उपरोक्त सभी नियमों से मैं सहमत हूँ कृप्या मुझे प्रवेश देने की स्वीकृति प्रदान करें।

जानकारी एवं फार्म जमा करने हेतु संपर्क करे-
🛕श्री 1008 आदिनाथ दिगंबर जैन मंदिर चौक भोपाल
(मध्यप्रदेश)🌺🏵️🌷🌻
संपर्क सूत्र – 9425008173

  • 9406541212
  • 7869800860