||JINDHARMA.COM में आपका स्वागत है||

|| हिंसा को मिटाने के लिये अहिंसा का प्रचार आवश्यक है ||

|| हमारा उद्देश्य ||

|| देव शास्त्र गुरु की वाणी को पूरे विश्व में पहुँचाना ||

|| सिर्फ धार्मिक कार्य भक्ति के कार्य मे उपयोग करना ||

|| इस वेब साइट में जैन सिद्धांत के नियम लागु होंगे ||

||भोजन या कुछ भी खाते समय, चरण पादुका पहन कर, अशुद्धी के समय इस वेब साइट का उपयोग ना करें||

|| इस वेब साईट की किसी भी सामग्री का दुरूपयोग करने पर कार्यवाही की जायेगी ||

Website maintenance team:-

1.)सुलभ मोदी पुणे
ईमेलjainsulabh125@gmail.com
मोबाइल +91-09158882198

2.) Ravindra Jain Bengaluru
Mob. :- 9591844670

3.) Milan Jain khaddar khurai
Mob. :- 8827518314
Email:- khaddarmilan04@gmail.com

4.) Sachin Jain khurai
Mob. :- +919663711997

WhatsApp maintenance team:-

1.) Rahul Jain khimlasha
     Mob : 7049661530
     Email:- Rahuljain1042001@gmail.com

2.) कपिल जैन नारधा खुरई
      Mob. : 9691687037

3.) मनु जैन खुरई
      Mob. : 9174646109.

 

            हमारे ग्रुप की वेब साईटस / our group website:-

www.AhimsaNews.com
www.JinDharma.com

 

संबंधित WhatsApp ग्रुप – AhimsaNews.com, JinDharma.com, VidyaSagarSant.com
Shrutsevasamuh, sadhupravas

   

फेसबुक – FACEBOOK

facebook.com/AhimsaNews
facebook.com/vidyasagarsant
facebook.com/JinDharma

जैन संस्कार

Twitter –

twitter.com/AhimsaNews
twitter.com/vidhyasagarsant
twitter.com/JinDharma

Youtube channel related

जिन धर्म
अहिंसा धर्म
VidyaSagarSant  

Somil Jain Lalitpur
Jainam chanel LIVE
Arihant sant channel
अचल वाणी
संत गुरु लाइव

एंड्राइड एप्प
AhimsaNews
JinDharma
VidhyaSagar Sant
 
 

आनंद धाम

आनंद धाम

Chaturmas-List-2021-sanskar-sagar

बंधाजी की महिमा
बीना बारह

रजत तीर्थ विकास वर्षायोग 2021
अध्यात्म की पराकाष्ठा आचार्य भगवन 108 श्री विद्यासागर जी महामुनिराज के मंगल आशीर्वाद से उनके परम् प्रभावक शिष्य-
मुनि श्री 108 विमल सागर जी महाराज 🌼
मुनि श्री 108 अनंत सागर जी महाराज☀️
मुनि श्री 108 धर्म सागर जी महाराज🌻
मुनि श्री 108 अचल सागर जी महाराज🍁
मुनि श्री 108 भाव सागर जी महाराज☀️
चातुर्मास स्थल
श्री 1008 दिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र बंधाजी जिला टीकमगढ़ (मध्य प्रदेश)
नमनकर्ता

शुभम जैन
8130489120राजपाल 7898843988,7393002091

🌹🪴🚩🌸🌷🐚🔔1000 वर्ष प्राचीन अतिशय कारी, मनोहारी, चमत्कारी श्री अजितनाथ भगवान की छांव तले विश्व के प्रथम रजत तीर्थ पर🌹🌳🐚🚩🔔🌿🌹
रजत तीर्थ विकास वर्षायोग 2021

अध्यात्म की पराकाष्ठा आचार्य भगवन 108 श्री विद्यासागर जी महामुनिराज के मंगल आशीर्वाद से उनके परम् प्रभावक शिष्य-
मुनि श्री 108 विमल सागर जी महाराज 🌼
मुनि श्री 108 अनंत सागर जी महाराज☀️
मुनि श्री 108 धर्म सागर जी महाराज🌻
मुनि श्री 108 अचल सागर जी महाराज🍁
मुनि श्री 108 भाव सागर जी महाराज☀️
चातुर्मास स्थल
श्री 1008 दिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र बंधाजी जिला टीकमगढ़ (मध्य प्रदेश)
गूगल मैप लिंक
Shri Digambar Jain Atishaya Kshetra, Bandhaji
097704 50403
https://maps.app.goo.gl/JN2ZBMBNxsDfPcwB7
〰〰〰〰〰〰〰
बंधा जी पहुंच मार्ग
झांसी 70 कि.मी. ललितपुर 60 कि.मी. सागर 160 कि.मी. टीकमगढ़ 40 कि.मी है झांसी टीकमगढ़ मार्ग पर स्थित बम्होरी बराना से 7 कि.मी.
ललितपुर से 20 कि. मी. बांसी➡️ 10 कि. मी. बार➡️ 20 कि. मी. मोहनगढ़➡️ 8 कि. मी. बँधाजी
वाहन 🚕🚙🚗
हेतु संपर्क सूत्र ☎️ mp 36 BB 1639( तीर्थ क्षेत्र वाहन)
पारस जैन, बँधाजी

8319040151
राजेश जैन (राजू), मोहनगढ़
9977137473
हरगोविंद तोमर, मोहनगढ़
9753306464
ललितपुर: अमित भैया 9889282120
टीकमगढ़ नितिन जैन अरिहंत कंप्यूटर8226060609
दिगौड़ा- जितेंन्द्र जैन, 9424674042
बम्होरी रोहत जैन9584424124 तालबेहट दीपक सतभैया 7080764449

अनोखी कृति
साधु जीवन दर्शन

सर्व श्रेष्ठ साधक परम पूज्य आचार्य श्री 108 विद्या सागर जी महाराज के द्वारा दीक्षित साधुओं का जीवन परिचय।
मार्गदर्शन
मुनिश्री 108 अजित सागर जी महाराज
मुनिश्री 108 भाव सागर जी महाराज
पृष्ठ 330
साइज: A4
संपर्क सूत्र:
9806237316

बँधाजी
19सितंबर 2021

उपवास के साधक
श्री 1008 दिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र,बँधाजी, जिला-टीकमगढ़ (मध्य प्रदेश) में विराजमान
सर्वश्रेष्ठ साधक
आचार्य श्री 108 विद्यासागर जी महाराज* के आज्ञानुवर्ती शिष्य
मुनि श्री 108 विमलसागर जी महाराज का आज का उपवास है।
हम सभी भावना भाये की अनुकूलता बनी रहे । दिगम्बर जैन साधु की चर्या अद्भुत होती है धन्य है ऐसे उपवास के साधक इनके चरणों में अनंत बार नमन …🙏 गुरूचरणानुरागी
शुभम जैन, राज जैन मोहनगढ
राजपाल : 7393002091, 7898843988, आशुतोष : 9179909268,

विश्व की चर्चित कृति
आहार दान महादान
प्रेरणा

सर्व श्रेष्ठ साधक परम पूज्य आचार्य श्री 108 विद्या सागर जी महाराज के शिष्य
मुनिश्री 108 चंद्र सागर जी महाराज
मुनिश्री 108 भाव सागर जी महाराज
पृष्ठ 126
विषय
(1) आहार दान की महिमा
(2) निरंतरायआहार ऐसे कराएं
( 3)सूतक में क्या करें क्या नहीं
(4)सूतक कब किसको कितना लगता है
(5) सूतक के विभिन्न समाधान
संकलनकर्ता
पं‌ राजकुमार जैन शास्त्री ( पूर्व बैंक अधिकारी) सागर (मध्य प्रदेश ) मो: 8120 22 6691
संपादन
डॉ अजेश जैन शास्त्री ( ज्योतिष एवं वास्तु विद ) रेवाड़ी (हरियाणा ) मो: 9784 60 1548
संस्करण
प्रथम अगस्त 2021
मूल्य 50/_
प्राप्ति स्थान
राजीव जैन श्री जिनेंद्र ज्वेलर्स सदर मेरठ (उत्तर प्रदेश) मो: नं9837 257909

विश्व की अनोखी कृति

साधु जीवन दर्शन कृति इसमें

सर्व श्रेष्ठ साधक परम पूज्य आचार्य श्री 108 विद्या सागर जी महाराज के द्वारा दीक्षित 325 से अधिक साधुओं के जीवन परिचय है इसमें

मार्गदर्शन

मुनिश्री 108 अजित सागर जी महाराज

मुनिश्री 108 भाव सागर जी महाराज
का है
इसमेंपृष्ठ* 380
साइज: A4 है

संपर्क सूत्र 8226060609 7898843988